सुखबीर बादल के दो ड्रीम प्रोजैक्ट पर मंत्री नवजोत सिद्धू ने लगाई ब्रेक, विजीलैंस जांच के आदेश

डेली संवाद, जालंधर

विपक्ष के नेता रहे जगदीश राजा ने तीन साल पहले जिस प्रोजैक्ट में व्यापक धांधली का आरोप लगाया था, मेयर बनते ही जगदीश राजा ने उसे रुकवा दिया। अकाली-भाजपा सरकार के वक्त मेयर रहे सुनील ज्योति ने शहर की बेहतरी के लिए दो बड़े प्रोजैक्ट शुरू किया था। इसमें रोड स्वीपिंग मशीन और एलईडी स्ट्रीट लाइट पर काम शुरू किया गया था। लेकिन अब कांग्रेसी सत्ता में आई है तो इसे रोक दिया गया है।

एलईडी स्ट्रीट लाइट में कौंसलर रोहन सहगल ने 200 करोड़ रुपए की धांधली की आशंका जाहिर की है। इसे लेकर जब मेयर ने रोहन सहगल को निगम हाउस में बोलने से रोका तो वे सीधे स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के पास पहुंच गए। क्योंकि रोहन सहगल विधायक परगट सिंह के करीबी बताए जा रहे हैं, इसलिए नवजोत सिद्धू तक वे आसानी से पहुंच गए। सिद्धू ने इस पर रोक लगा दी है।

इससे पहले नगर निगम हाउस ने रोड स्वीपिंग मशीन पर रोक लगा दी थी। क्योंकि इसमें रोजाना हजारों रुपए की धांधली की आशंका जाहिर की गई है। इस पर कमिश्नर से रिपोर्ट मांगी गई थी। सूत्र बता रहे हैं कि कमिश्नर ने मेयर को भेजी रिपोर्ट में गड़बड़ी बताई है। जिससे एलईडी स्ट्रीट लाइट और रोड स्वीपिंग मशीन पूरी तरह से बंद होने जा रहे हैं।

शहर की अधिकांश स्ट्रीट लाइट बंद, लोग परेशान

इस सबके बीच शहर के अधिकांश इलाके में स्ट्रीट लाइट बंद पड़ी है। उसके रखरखाव को लेकर कोई जिम्मेदारी नहीं ले रहा है। लगातार शिकायतें आ रही है। लेकिन लाइटें शाम को जलती नहीं है।

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here