पंजाब में 558 डाक्टरों की जल्द होगी भर्ती, उन्हें घर के पास ही दी जाएगी पोस्टिंग, पढ़ें सरकार का बड़ा फैसला

  • यूनीवर्सल स्वास्थ्य स्कीम अधीन तीसरी श्रेणी की स्वास्थ्य सेवाएंं मुहैया कराएगी सरकार

  • मियाद पूरी कर चुकी मशीनरी की तबदीली के लिए नयी टेस्टिंग मशीनों का किया जायेगा टैंडर

डेली संवाद, चंडीगढ़

10 वर्षों के लंबे वक्त के बाद स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग राज्य के लोगों को मानक स्वास्थ्य सेवाएंं मुहैया करवाने के लिए बड़ी संख्या में 558 नये डाक्टरों की भर्ती करने जा रहा है। जिस संबंधी भर्ती प्रक्रिया मुकम्मल कर ली गई है और इन डाक्टरों को जल्द स्टेशन जारी कर दिए जाएंगे।

इन नये भर्ती डाक्टरों में स्पैशलिस्ट डाक्टर भी हैं जिनको सिवल सर्जनों द्वारा दी गई सूची के अनुसार विभिन्न जिलों के कम्युनिटी हैल्थ सैंटरों, प्राथमिक हैल्थ सैंटरों और जिला अस्पतालों में तैनात किया जायेगा। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री ब्रह्म मोहिंद्रा ने यह जानकारी दी।

इसके लिए 10 सरकारी अस्पतालों का किया जायेगा आधुनिकीकरण

हैल्थ मिनिस्टर ने आज सरकारी अस्पतालों के स्टाफ, ओ.पी.डी. दवाओं और बुनियादी ढांचे की समीक्षा के लिए रखी गई सिविल सर्जनों की मीटिंग की। मीटिंग में सतीश चंद्रा, अतिरिक्त मुख्य सचिव, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, अमित कुमार एम.डी.एन.एच.एम, हरपाल सिंह चीमा, चेयरमैन पी.एच.एस.सी, सभी सिविल सर्जन और स्टेट प्रोग्राम अफ़सर उपस्थित थे।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने चुनाव घोषणा-पत्र में किये वायदे को पूरा करते हुए बड़े स्तर पर डाक्टरों की भर्ती की है जो कि स्वास्थ्य विभाग के लिए एक मील पत्थर साबित होगी। उन्होंने कहा कि वित्तीय संकट होने के बावजूद भी स्वास्थ्य विभाग 10 वर्ष के अंतराल के बाद बड़ी संख्या में 558 डाक्टरों की भर्ती करने जा रहा है।

ब्रह्म मोहिंद्रा ने सिविल सर्जनों को कहा कि वह जिला, सब -डिविजऩल, सी.एस.सी और पीएससी स्तर के अस्पतालों के लिए डाक्टरों की तैनाती संबंधी सूची दें जिससे डाक्टरों की कमी से जूझ रहे अस्पतालों में नये डाक्टरों की तैनाती की जा सके।

उन्होंने कहा कि डाक्टरों की तैनाती तर्क के आधार पर की जायेगी और डाक्टरों के गृह निवास से संबंधित जिलों के अस्पतालों में तैनाती पर ध्यान दिया जायेगा जिससे मैडीकल अफ़सर समर्पित होकर तनदेही से लोगों को स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान कर सकें।

ब्रह्म मोहिंद्रा ने यहाँ घोषणा करते हुए कहा कि पंजाब सरकार राज्य के लोगों को यूनिवर्सल हैल्थ स्कीम के अधीन मानक और बढिय़ा स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान करने के लिए 10 जिला अस्पतालों का आधुनिकीकरण करेगी जिससे लोगों को जिले में ही तीसरी श्रेणी की इलाज सुविधाएंं उपलब्ध हो सकेंगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे…

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here