बबुआ 5 X बुआ 0 = जीरो, यूपी में सपा-बसपा गठबंधन को ले डूबेगा गणित का ये फार्मूला, पढ़ें CM योगी आदित्यनाथ का विस्तृत इंटरव्यू

आतंकवादियों को बिरयानी खिलाने वाले लोग सेना के शौर्य का सबूत मांग रहे हैं: योगी
राहुल को जितना रटाया जाता है, उतना ही बोलते हैं : योगी
मुसलमान रमजान मनाएं, उन्हें रमजान मनाने से कौन रोक रहा है

डेली संवाद, लखनऊ
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज विपक्ष पर जमकर बरसे। उन्होंने एक बयान में कहा कि बुआ और बबुआ का गठबंधन भ्रष्ट है। गणित का फार्मूला बताते हुए योगी ने कहा कि जीरो से गुणा करने पर जीरो ही आता है। इसी तरह सपा के पांच को बसपा के जीरो से मल्टीप्लाई करने पर जीरो ही आएगा।

राहुल गांधी के बारे में उन्होंने कहा कि वे उतना ही बोलते हैं, जितना रटाया जाता है। योगी यहीं नहीं रुके उन्होंने कहा कि जो लोग आतंकवादियों को बिरयानी खिलाते थे, आज वे सेना के शौर्य का सबूत मांग रहे हैं। वहीं कुछ लोग रमजान को चुनाव से जोड़कर ओछी राजनीति कर रहे हैं, जो ठीक नहीं है। रमजान मनाने के साथ-साथ लोग मतदान भी करेंगे।

योगी ने कहा कि मुसलमान रमजान मनाएं, उन्हें रमजान मनाने से कौन रोक रहा है। पर्व और त्यौहार भारत की संवैधानिक परंपरा के हिस्सा हैं। चुनाव प्रचार आप दिन भर कर सकते हैं, चुनाव के दिन मतदान कर सकते हैं। इसमें कहां से पर्व और त्यौहार आड़े आते हैं। ये देश का दुर्भाग्य है कि इतनी संकीर्ण मानसिकता के साथ कांग्रेस और विपक्षी दलों द्वारा ओछी राजनीति की जा रही है।

ओपिनियन पोल को किया खारिज

ओपिनियन पोल में भाजपा की सीटें कम होने के रूझान पर योगी ने कहा कि ये आंकड़े 6 महीने पहले के हैं। आज हम मार्च में हैं। इस दौरान प्रधानमंत्री के कार्यक्रम, संगठनात्मक रणनीति, पीएम किसान सम्मान निधि योजना, आयुष्मान भारत और एयर स्ट्राइक ने देश के जज्बे को एक नई जीवंतता दी है। ये सारे कार्य 2019 में मोदी जी की नेतृत्व में सरकार फिर से बनाएंगे।

विगत पांच वर्षों में समाज हर तबके के लिए बेहतरीन कार्य हुए हैं

यह महासमर है। एक तरफ मोदी जी के नेतृत्व में विकास सुशान और सुरक्षा के मुद्दे पर भाजपा गठबंधन है। दूसरी तरफ स्वार्थ, लूट-खसोट, अराजकता और आतंकवाद को प्रेरित और पोषित करने वाला महामिलावटी विपक्ष है। उन्होंने कहा कि विपक्ष देश में राजनैतिक अस्थितरता और अराजकता का वातावरण पैदा करने के लिए मोदी जी को निशाना बनाकर कुत्सित बयानबाजी कर रहा है।

उन्होंने कहा कि विगत 56-57 महीनों के दौरान मोदी जी के भाजपा नेतृत्व वाली सरकार ने लोक कल्याणकारी योजनाओं के माध्यम से समाज के विभिन्न तबके के हितों के लिए बेहतरीन कार्य किए गए हैं। विगत पांच वर्षों में भारत को दुनिया की आर्थिक महाशक्ति के रूप में स्थापित करने के लिए इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलेपमेंट के महत्वपूर्ण कदम उठाए गए हैं।

राष्ट्रीय सुरक्षा पूरे देश का मुद्दा है

राष्ट्रीय सुरक्षा पूरे देश का मुद्दा है। सपा-बसपा के सहयोग से चलने वाली कांग्रेस नेतृत्व की सरकार के समय में आतंकवादियों को बिरयानी खिलाई जाती थी। आज भाजपा की सरकार है, आतंकवादियों को बिरयानी नहीं, अब गोली खिलाई जा रही है। पुलवामा का मास्टर माइंड मारा गया।

पूर्वोंतर में एक ही सर्जिकल स्ट्राइक से सभी आतंकवादी कैंप समाप्त हो गए। उड़ी सर्जिकल स्ट्राइक के माध्यम से कश्मीर में आतंकवाद की कमर तोड़ दी गई है। पाक अधिकृत कश्मीर में अभी हाल ही में एयर स्ट्राइक के माध्यम से जो जोरदार कार्य मोदी जी के नेतृत्व वाली सरकार ने किया है, उसे देखते हुए देश में मोदी जी की सरकार एक बार फिर से बनेगी। इसमें किसी को कई संदेह नहीं होना चाहिए भाजपा गठबंधन मोदी जी के नेतृत्व में इस चुनाव को प्रचंड बहुमत से जीतेगा। उत्तर प्रदेश 74 प्लस के लक्ष्य को लेकर आगे बढ़ेगा, अमेठी और आजमगढ़ को भी भाजपा जीतेगी।

विकास, सुरक्षा और सुशासन के मुद्दे पर लड़ेंगे चुनाव

विकास, सुरक्षा और सुशासन भाजपा के इलेक्शन के मेनिफेस्टो के हिस्से होंगे। विपक्ष पर हमलावर होते हुए उन्होंने प्रश्न किया कि सपा-बसपा और कांग्रेस के शासनकाल में प्रदेश कहां था और आज कहां है? योगी ने कहा कि हम विपक्ष के काम और अपने समय के कार्यों का तुलनात्मक आंकड़ा जनता के सामने रखेंगे।

बुआ और बबुआ को जनता फिर दिखाएगी ठेंगा

उत्तर प्रदेश जातिवाद और परिवारवाद की राजनीति से उब चुका है। 2014 में अखिलेश यादव यहां सत्ता में थे, तब उनकी क्या दुर्गती हुई थी, ये हर व्यक्ति जानता है। 2017 में भी दो लड़के यूपी में आए थे, उन्होंने जनता को बरगलाने के लिए बहुत सारे नारे दिए थे, जनता ने उनके अराजक, भ्रष्ट और काले कारनामों को ठेंगा दिखा दिया था।

उन्होंने कहा कि आज बुआ और बबुआ एक साथ एक मंच पर आए हैं, सभी को पता है ये भ्रष्टाचार और अराजकता का गठबंधन है। उत्तर प्रदेश की जनता इस प्रकार की किसी भी महामिलावट को स्वीकार नहीं करेगा। प्रदेश और देश अच्छी दिशा में आगे बढ़ रहा है। इसका लाभ देश के हर तबके के लोगों को मिल रहा है।

फारुख अब्दुल्ला के बयान को बताया दुर्भाग्यपूर्ण

फारुख अब्दुल्ला द्वारा एयर स्ट्राइक को सियासी स्टंट और चुनाव आयोग को सियासी बताने वाले बयान को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए योगी ने कहा कि भारत के सेना के शौर्य और पराक्रम पर प्रश्न उठाने वाले लोगों को देश कभी स्वीकार नहीं करेगा। ये कार्य मोदी जी के नेतृत्व में हुआ है, पूरा देश मोदी जी के अभिनंदन को उतावला है।

उन्होंने कहा कि चुनाव की घोषणा पूरे देश में हुई है। किसी भी संवैधानिक संस्था पर इस तरह के प्रश्न उठाना यह अपने आप में फारुख अबदुल्ला जैसे लोगों को संदेह के घेरे में खड़ा कर देता है। ये लोग कभी सुप्रीम कोर्ट पर उंगली उठाते हैं, कभी इलेक्शन कमीशन पर उठाते हैं, आखिर विपक्ष की ये कौन सी संवैधानिक निष्ठा है? ‘’मीठा-मीठा गप्प और कड़वा-कड़वा थू’’ की नीति नहीं चलेगी।

भारत के संवैधानिक संस्थाओं पर उंगली उठाना, इनके संवैधानिक निष्ठा को ही संदेह के घेरे में डालती है,ये दुर्भाग्यपूर्ण है। ये कांग्रेस और उसके सहयोगी दलों को स्पष्ट करना चाहिए। समय पर इलेक्शन करवाना चुनाव आयोग कि जिम्मेदारी है। चुनाव आयोग पर उंगली उठाना बड़ा ही शर्मनाक है। मुझे लगता है कि ये पूरे विपक्ष के वास्तविक चेहरे को भी बेनकाब करता है।

संगठन तय करेगा किसे मिलेगा टिकट

जिन सांसदों का रिपोर्ट कार्ड ठीक नहीं है, उनके टिकट काटने की बात पर योगी ने कहा कि इस पर हम लोग अभी किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंचे हैं। अभी इस पर चर्चा हो रही है। भाजपा, सरकार और संगठन के साथ बेहतर तालमेल के साथ आगे बढ़ रही है। संगठन ने जो रणनीति पूरे प्रदेश में बनाई है, उस रणनीति के बारे में चर्चा करने के लिए हम लोग बैठे थे, अलग-अलग सीटों पर क्या स्ट्रेटजी हो सकती है, इन पर चर्चा करने के लिए हम लोगों की बैठकें होती रही हैं और आगे भी होंगी।

जो विपक्ष के लिए नाममुकिन था, मोदी ने उसे मुमकिन किया

मोदी जी का जादू 2014 की तुलना में 2019 के आम चुनाव में बहुत अच्छे ढंग से सामने आएगा। स्वाभाविक रूप से मोदी जी के नेतृत्व में देश ने कामयाबियों की जो सीढ़ी चढ़ी है, वह कांग्रेस, सपा, बसपा, और आरजेडी जैसे दलों के लिए असंभव था, नामुमकिन था। जिसे मोदी जी चमात्कारिक नेतृत्व ने मुमकिन बना दिया है। क्योंकि मोदी है तो मुमकिन है।

सपा-बसपा गठबंधन के बारे में बताया गणित का फार्मूला

सपा-बसपा के गठबंधन पर मुख्यमंत्री ने कहा है कि गणित का एक फार्मूला है कि शून्य से अगर किसी को गुणा करेंगे, तो शून्य ही आएगा। सपा पांच थी, बसपा शून्य थी। अगर इन दोनों को गुणा कर लेगें तो जीरो ही आएगा। यह गठबंधन जीरो साबित होगा, उत्तर प्रदेश के मतदाता इसे जीरो साबित करेंगे, क्योंकि इनके काले कारनामे सबसे सामने हैं।

उन्होंने कहा कि दलित चेतना को नया आयाम देने वाले महापुरुषों के स्मारकों को अखिलेश यादव ध्वस्त करने की बात करते थे। आज जब उनके स्वंय के अस्तित्व पर खतरा मंडराने लगा तो बुआ की गोदी में बैठकर अपने अस्तित्व को बचाना चाहते हैं। समाज इस सबको देख रहा है, जिसे स्वीकार नहीं करेगा।

राहुल को जितना रटाया जाता है उतना ही बोलते हैं

राफेल पर राहुल गांधी के बयान पर योगी ने कहा कि राहुल की सबसे बड़ी समस्या है कि उन्हें खुद नहीं पता है को वे क्या बोल रहे हैं, उन्हें जितना रटाया जाता है, उतना ही बोलते हैं। राहुल से पूछना चाहिए कि टूजी और डीजी के बारे में। उन्होंने कहा कि डा. मनमोहन सिंह की नेतृत्व वाली यूपीए की सरकार थी तब टूजी और डीजी की चर्चा हर जगह थी। टूजी का मतलब राहुल और सोनिया जी से है और डीजी का मतलब दामाद जी है। दामाद जी की कारनामे जो देश में एक-एक कर के आ रहे हैं, राहुल जी को देश को बताना चाहिए।

खत्म हो चुका है कांग्रेस का संस्कार

उन्होंने कहा कि मोदी जी की ईमानदारी पर कोई प्रश्न नहीं उठ सकता है। दूसरी तरफ राहुल गांधी अमेरिका के राजदूत से मिलते हैं, तो भारत की संगठनों को कठघरे में खड़ा करते हैं, जैश-ए-मोहम्मद जैसे आतंकी संगठनों को क्लीन चिट देते और आतंकवादियों के नाम के साथ जी लगाते हैं, भारत के संवैधानिक प्रमुख प्रधानमंत्री को गाली देते हैं। ये कांग्रेस के संस्कार हैं, जो पंडित नेहरू से चौथी पीढ़ी राहुल गांधी तक आते-आते पतन की पराकाष्ठा पार कर गई हैं।

हिन्दी न्यूज़ Updates पाने के लिए आप हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।

Spread the love