बारिश के साथ बर्फबारी, फसलों को नुकसान, मौसम का बदला मिजाज

डेली संवाद ब्यूरो, मेरठ
मौसम के बदलते मिजाज ने लोगों को परेशान कर दिया है। फरवरी के पहले सप्ताह में गुरुवार को सुबह तेज बारिश और ओले पड़ने से सर्दी बढ़ गई। साथ ही खेतों में लगी सरसों, गेहूं व अन्य फसलों को नुकसान पहुंचने की खबर है। सुबह यूपी बोर्ड के परीक्षार्थियों को अपने परीक्षा केंद्रों और बच्चों को स्कूल जाने में परेशानियों का सामना करना पड़ा।

मौसम विभाग का कहना है कि मौसम का बिगड़ा मिजाज आगे भी जारी रहेगा। मौसम की आंख मिचौली से फरवरी महीने में भी सर्दी का असर कम नहीं हुआ है। इस क्रम में गुरुवार की सुबह चारों ओर अंधेरा घिर गया और तेज बारिश शुरू हो गई। पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मेरठ, बागपत, गाजियाबाद, मुजफ्फरनगर, सहारनपुर, शामली, हापुड़ समेत कई जिलों पर बारिश के साथ ओले गिरने से सर्दी भी बढ़ गई। सुबह-सुबह बारिश होने से गुरुवार से शुरू हुई यूपी बोर्ड के परीक्षार्थियों को अपने परीक्षा केंद्र पहुंचने में दिक्कतों का सामना करना पड़ा।

बच्चों को भी अपने स्कूलों के लिए बारिश में भीगते हुए जाना पड़ा

इसी तरह से बच्चों को भी अपने स्कूलों के लिए बारिश में भीगते हुए जाना पड़ा। इससे पहले बुधवार सुबह भी बारिश हुई थी और मौसम वैज्ञानिकों ने लगातार मौसम खराब होने की आशंका जताई थी। अचानक सर्दी बढ़ने से लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ा।

सरदार वल्लभभाई पटेल कृषि विश्वविद्यालय मोदीपुरम के मौसम केंद्र प्रभारी डाॅ. यूपी शाही का कहना है कि पश्चिमी विक्षोप के चलते ही पश्चिमी उत्तर प्रदेश में तेज हवाओं के साथ बारिश हो रही है। कहीं-कहीं पर ओले पड़ रहे हैं और पड़ने की आशंका है। बारिश होने से तापमान में भी गिरावट आ रही है। बारिश के साथ ओले पड़ने से किसानों की पेशानी पर बल आ गए हैं। किसानों का कहना है कि ओले पड़ने से आलू, सरसों और गेहूं की फसल को नुकसान होगा।

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 8847567663 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।

Spread the love