बजट से समाज के हर वर्ग को मिली निराशा: अखिलेश यादव

डेली संवाद ब्यूरो, लखनऊ
उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने गुरुवार को योगी सरकार के बजट को आम जनमानस को धोखा देने वाला बजट बताया है।

अखिलेश यादव ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि इस बजट को देख कर पता ही नहीं चल पा रहा है कि सरकार क्या करने वाली है। बजट में विकास की कोई पुख्ता व्यवस्था नहीं की गई है। बजट को देखकर लगता है कि सरकार के पास कोई विजन ही नहीं है।

अपनी सरकार में वित्त मंत्रालय का भी प्रभार संभल चुके अखिलेश यादव ने दावा किया कि सामाजिक न्याय के लिए बजट में कोई व्यवस्था नहीं की गई है। अल्पसंख्यकों को भी दरकिनार कर दिया गया है। सुरक्षा के लिए कोई व्यवस्था नहीं की गई ।

कैंसर इंस्टीट्यूट के लिए भी पर्याप्त ध्यान नहीं दिया गया

उन्होंने कहा कि कैंसर इंस्टीट्यूट के लिए भी पर्याप्त ध्यान नहीं दिया गया है। कैंसर के मरीज बढ़ते जा रहे हैं लेकिन सरकार को कोई चिंता ही नहीं है। उन्होंने कटाक्ष किया कि सरकार ने करीब 22 करोड़ पौधे लगाने की घोषणा की है। मैं जानना चाहता हूं कि राज्य में इतनी जमीन कहां है। कहां से इतने पौधे लग जाएंगे। बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे और अन्य एक्सप्रेस-वे को बनाने में भी सरकार गंभीर नहीं लग रही है।

सपा अध्यक्ष ने कहा कि मेट्रो को लेकर भी सरकार का रुख स्पष्ट नहीं है। वह उस दिन के इन्तजार में है, जब गोरखपुर में मेट्रो शुरू करवाई जाएगी। कानपुर में मेट्रो का काम रोक दिया गया। आगरा में भी इस दिशा में सही काम नहीं हो रहा है। इस बजट में किसी सैनिक स्कूल की घोषणा भी नहीं की नहीं की गई है।

अखिलेश यादव ने कहा कि उच्च शिक्षा के लिए पैसों की व्यवस्था नहीं की गई है। बजट धोखा देने वाला है। इस बजट से यह भी नहीं पता चल पा रहा है कि राज्य कुछ ही दिनों में चुनाव की ओर बढ़ रहा है। चुनाव को देखते हुए बजट अच्छा बनना चाहिए था। बजट में किसानों, व्यापारियों, छात्रों, स्वास्थ्य और चिकित्सा शिक्षा के लिए कोई खास व्यवस्था भी की गई है।

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 8847567663 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।

Spread the love