अकाली दल ने एनडीए की मीटिंग का किया बहिष्कार, कहा- ‘गुरुद्वारों के आंतरिक मामले में हस्तक्षेप ना करें BJP और संघ’

चंडीगढ़। पंजाब की राजनीति में शिरोमणि अकाली दल और राजग के संबंधों को लेकर कयासबाजी तेज हो गई है। संसद के बजट सत्र से पहले वीरवार को हुई राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की बैठक का शिरोमणि अकाली दल (शिअद) ने बहिष्कार कर दिया।

इससे दो दशकों से चले आ रहे शिअद-भाजपा गठजोड़ को लेकर चर्चाएं तेज हो गईं। इससे कयास लगाए जा रहे हैं कि शिअद और भाजपा नेताओं में सब कुछ अच्छा नहीं है। इसके साथ ही शिअद ने अपनी नाराजगी जाहिर भी कर दी है। उसने कहा कि सिखों के आंतरिक मामलों में संघ के कथित हस्तक्षेप से वह बहुत नाराज है।

शिरोमणि अकाली दल के प्रवक्ता और सांसद नरेश गुजराल ने कहा कि अकाली दल गुरूद्वारों के प्रबंधन सहित सिखों के आंतरिक मामलों में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के हस्तक्षेप से नाराज है। उन्होंने यह भी कहा कि उनकी पार्टी को बीजेपी के कुछ नेताओं की उस बयानबाजी से भी आपत्ति है जिससे अल्पसंख्यकों के बीच भय का वातावरण उत्पन्न होता है।

सिखों के आंतरिक मामले में हस्तक्षेप ना करे संघ

गुजराल ने कहा, ‘नांदेड़ के हुजूर साहिब में जो कुछ हो रहा है उससे हम बेहद निराश एवं दुखी हैं। संघ को सिखों के धार्मिक मामलों में हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए।’ बता दें कि गुरुवार को अकाली दल के नेता एनडीए गठबंधन की बैठक में शामिल नहीं हुए थे। हालांकि इस बैठक के बाद बीजेपी के नेताओं ने अकाली दल से किसी भी प्रकार का मतभेद होने की बात से इनकार किया था।

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 8847567663 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।

Spread the love