अकाली-भाजपा में फिर खटास, एक बार फिर भाजपा से नाता तोड़ने को धमकी, पढ़ें क्या बोले अकाली नेता

डेली संवाद, अमृतसर

सुखदेव सिंह ढींडसा के शिरोमणि अकाली दल से इस्तीफे के बाद पार्टी के वरिष्ठ नेता ब्रह्मपुरा ने अजनाला में प्रेस कांफ्रेंस में अकाली नेताओं ने भाजपा पर भड़ास निकाली।

उन्होंने कहा के BJP से अगर पंजाब के हितों के लिए रिश्ता तोडना पड़ा तो तोड़ दिया जाएगा। अकाली दल में सब कुछ ठीक है या नहीं के सवाल पर उन्होंने कहा नो कमैंट्स।

टकसाली नेता सुखदेव सिंह ढींढसा की तरफ से अकाली दल में से इस्तीफा देने के बाद रविवार को सीनियर अकाली नेताओं ने अमृतसर में प्रेस कॉन्फ्रेंस की। सुबह से ही चर्चे चल रही थी कि टकसाली नेता इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में कोई बड़ा धमाका कर सकते हैं परन्तु जैसे ही प्रेस कॉन्फ्रेंस शुरू हुई तो अकाली लीडरशिप से नाराजगी के सवाल को टालते हुए रणजीत सिंह ब्रह्मपुरा ने कहा कि उनकी पार्टी के साथ कोई मतभेद नहीं हैं।

ब्रह्मपुरा ने कहा कि माझे के सीनियर नेता एकत्रित हो कर काम करेंगे व हर सप्ताह मीटिंग की जाएगी यदि पार्टी में कुछ गलत हो रहा है तो उसका विरोध किया जाएगा।

पत्रकारों की तरफ से इस्तीफे सम्बन्धित पूछे गए सवाल पर ब्रह्मपुरा ने कहा कि वह 60 साल से शिरोमणि अकाली दल के साथ जुड़े हुए हैं। उन्होंने लम्बे समय से पार्टी की सेवा की है और अकाली दल उनकी मां पार्टी और इस पार्टी में से इस्तीफा देने का सवाल ही पैदा नहीं होता। ब्रह्मपुरा ने कहा कि जिस समय राम रहीम को माफी दी गई थी तो उन्होंने तब भी इसका विरोध किया था और यदि कुछ गलत होता है तो वह अब भी उसका विरोध करते रहेंगे।

इस दौरान जत्थेदार सेवा सिंह सेखवां ने बोलते हुए कहा कि मतभेद हर पार्टी में होते हैं परन्तु इस का यह मतलब नहीं कि अपनी मां पार्टी में से इस्तीफा दे दिया। सेखवां ने कहा कि वह पार्टी के सच्चे सिपाही हैं और हमेशा पार्टी के साथ रहेंगे। उन्होंने कहा कि अगर पार्टी में कुछ बुरा होता है तो वह उसका विरोध करेंगे और बुरे अक्स वाले व्यक्ति को पार्टी में से निकालने की मांग करेंगे।

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here